नवग्रहों के रत्न वक्री ग्रह अपनी वित्तीय स्थिति आगे वर्ष के लिए काफी अच्छा होगा। संसाधन मजदूरी की तरह, अचल संपत्ति सौदों, विरासत विरासत और तरह से सभी हलकों से में आते हैं। अब आप के लिए लंबी अवधि के निवेश के विभिन्न प्रकार के लिए खुला होगा। कुछ भाग्य और भाग्य साल 2017 लो जोखिम की गणना के लिए अपने पक्ष में हो सकता है जब आप सट्टा सौदों में कर रहे हैं। लेकिन एक अप्रत्याशित लाभ की उम्मीद नहीं है। काटने कि तुम जो कुछ भी चबा कर सकते हैं। अपने व्यावसायिक विकास और प्रतिबद्धता के आगे वर्ष के लिए अपनी वित्तीय स्थिति में सुधार होगा। एक टोकरी में अपने सभी अंडे डाल मत करो, बजाय प्रिंसिपल के लिए ज्यादा नुकसान के बिना लंबी अवधि के लाभ के लिए अपनी बचत और निवेश में विविधता लाने की कोशिश करते हैं।
Place- jalaun district U.P. September 2017 उनके सेवा काल में समय का बहुत अभाव था। अतः जून 1961 में स्वैच्छिक सेवा निवृत्ति के लिए प्रार्थना पत्र सरकार को प्रस्तुत कर दिया और सरकारी सेवा से 19/09/1961 को सेवानिवृत होकर अपना तन, मन और धन ज्योतिष की सेवा में लगा दिया। उन्होंने नक्षत्रीय ज्योतिष विज्ञान के नए आयाम समझाने व स्थापित करने के लिए भारत के विभिन्न शहरों में नक्षत्रीय ज्योतिष अन्वेषण एवं अनुसन्धान केंद्र स्थापित किये, भ्रमण किया और सूत्र समझाए। प्रचार एवं प्रसार हेतु मार्च 1963 से एस्ट्रोलोजी एवं अथरिष्ट नाम की मासिक पत्रिका निकाली। वह भारतीय विद्या भवन के विजिटिंग प्रोफ़ेसर रहे। प्रोफ़ेसर कृष्णामूर्ति जी ने 6 पुस्तकें भी लिखीं। पुस्तकों के नाम हैं :- रीडर 1 (जन्म पत्रिका निर्माण), रीडर 2 (ज्योतिष के सिद्धांत), रीडर 3 (फलित ज्योतिष), रीडर 4 (विवाह, वैवाहिक जीवन एवं संतान), रीडर 5 (गोचर), रीडर 6 (प्रश्न ज्योतिष)। महाराष्ट्र के गवर्नर डॉ. पी.वी.चारियान ने 1964 में उन्हें ज्योतिष मार्तण्ड की उपाधि से विभूषित किया एवं मलाया की ज्योतिष सोसायटी ने 26/06/1970 को इनके विशेष शोध कार्य के लिए साथिडा मनन की उपाधि प्रदान की।
Labels मीराबाई भजन My d.o.b 24.12.1995 time 9:10 pm hai jammu . भारत लगभग 70 अंश देशांतर से 95 अंश देशांतर तक पश्चिम से पूर्व तक फैला हुआ है। भारतीय समय निर्धारण हेतु 82 अंश 30 कला का देशांतर मानक मान लिया है। इस मानक से समस्त भारत की घड़ियां समय दर्शाती हैं, जिसे हम भारतीय मानक समय कहते हैं। विश्व के समस्त देशों के समय उन देशों के मानक पर निर्भर करते हैं। उदाहरण के लिए इंग्लेंड का मानक 0 अंश देशांतर है। भारत के मानक से यह 82 अंश 30 कला कम है। प्रत्येक अंश पर समय के 4 मिनट का अंतर पड़ता है। अतः 82 अंश 30 कला का गुणा 4 मिनट से किया तो आया = 330 मिनट = 5 घंटे 30 मिनट। अतः इंग्लैण्ड का समय भारत के समय से 5 घंटे 30 मिनट कम है, क्योंकि इंग्लैण्ड का मानक भारत से कम है। ढाका का मानक 90 अंश है, जो भारत के मानक से 7 अंश 30 कला अधिक है। 7 अंश 30 कला गुणा 4 मिनट = 30 मिनट। इसलिए ढाका का समय भारत से 30 मिनट अधिक है।
श्रावण में शिव को प्रसन्न करने के लिए रखे जाते हैं 3 प्रकार … ईमेल अनुप्रयोगों ×
Published शश योग व्यूस : 2520 Top Trends एस्ट्रोलॉजी डेस्क। एक फ्रेशर हो, चाहे बहुराष्ट्रीय कंपनी में कार्यरत हो या स्टार्टअप कंपनी के साथ काम कर रहे हों, आपका पहला उद्देश्य नौकरी की संतुष्टि और विकास को प्राप्त करना है। हो सकता है कि आप वेतन पैकेज या हाई पोस्ट में वृद्धि के बारे में सोच रहे हैं, लेकिन इससे पहले आपको पता होना चाहिए- आपका करियर जीवन कहाँ जा रहा है? कैरियर ज्योतिष जन्म तिथि के द्वारा आपके वर्तमान पेशे में सफल होने की संभावनाओं का विश्लेषण करता है और आगामी वर्षों में विकास के रस्ते को बताता है। जब भी आप नौकरी बदलने की योजना बनाते हैं या अपना कैरियर में विकास की संभावनाओं का लाभ उठाना चाहते हैं, तो ज्योतिषियों से बात करें और तुरंत अपने प्रश्नों का बहुमूल्य जवाब प्राप्त करें।
Beauty tips navin sharma says विज्ञापन नाजी जर्मनी के तानाशाह एडॉल्फ हिटलर के लिए ज्योतिषशास्त्र बहुत महत्वपूर्ण था। माना जाता है कि इस जर्मन नेता ने द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान ज्योतिषियों से विचार विमर्श किया था।
Ravikant K Agnihotri says KAMAL NANDLAL     ज्योतिष पूर्वजन्म के किये हुए कर्मो का आधार है अर्थात हम ज्योतिष द्वारा ग्यात कर सकते हैं कि हमारे पूर्वजन्म के किये हुए कर्मो का परिणाम हमे इस जन्म मे किस प्रकार प्राप्त होगा ज्योतिर्विग्यान के अनुसार कोई भी रोग पूर्व जन्मकृत कर्मों का ही फल होता है. ग्रह उन फलों के संकेतक हैं, ज्योतिष विग्यान कैंसर सहित सभी  रोगों की पहचान मे बहुत ही सहायक होता है. पहचान के साथ –साथ यह भी मालूम किया जा सकता है कि कैंसर रोग किस अवस्था मे होगा  तथा उसके कारण मृत्यु आयेगी या नही, यह सभी ज्योतिष द्वारा सटीक जाना जा सकता है  कैम सर रोग की पहचान निम्न ज्योतिषीय योग होने पर बडी आसानी से की जा सकती है.
व्यूस : 12245 व्यूस : 4408 जन्म चार्ट 101: ग्रहों को समझने के लिए एक ज्योतिष शुरुआती गाइड 5th घर – नौकरी के मनोरंजन और रचनात्मक पहलुओं, आय में वृद्धि और कमाई की शक्ति की संभावनाओं.
टैलीकॉम Place of Birth? Kya Meri kundali me sarkari naukri h agr hai to kab Tak milegi…koi upaye ho to bataye
nakshatra देश में सबसे ज्यादा तलाक के दावों के साथ 8 नौकरियां 45 videos in this guide
मूलांक 2 के लिए 1 अशुभ माना गया है, अतः यदि किसी व्यक्ति (या अमितजी जिनका मूलांक -2 है) के लिए यदि तिथि, वार, माह, वर्ष सभी एक से संबंधित हों तो वह समय अमितजी के लिए अशुभ ही अशुभ होगा। यदि किसी व्यक्ति की जन्मतिथि ज्ञात न हो तो उस व्यक्ति के प्रसिद्ध नाम से नामांक निकालकर उसका शुभ अंक ज्ञात किया जा सकता है, परन्तु यह सामान्य फल ही देता है।
search रुझान – By Suresh Shrimali (Astrologer ,Motivational Speaker & Adhyatmic Chintak) (M)+91-291-5190000 , 9314728165 * Social Links * FACEBOOK Gurudev Suresh Shrimali – https://www.facebook.com/sureshshrima… Graho Ka khel – https://www.facebook.com/GrahonKaKhel Twitter Gurudev Suresh Shrimali – https://twitter.com/grahonkakhel Web – www.grahonkakhel.co.in गजकेसरी योग जब चंद्रमा के साथ या चन्द्रमा से 4, 7, 10 गुरू हो तो गजकेसरी योग घटित होता है। चंद्रमा के साथ-साथ गुरू यदि लग्न से भी केन्द्र में हो तो इस योग की शुभता बढ़ जाती है। यह एक सुप्रसिद्ध राजयोग है। इस योग में जन्म लेने वाले तेजस्वी, धनी, मेधावी, राजप्रिय, दबंग व राजतुल्य सुख प्राप्त करने वाले होते है। गज का अर्थ हाथी व केसरी का अर्थ सिंह अर्थात् व्यक्ति के जीवन में वाहन, आभूषण, धन, धान्य सभी सुख होते हैं लक्ष्मी की पूर्ण कृपा इन पर बनी होती हैं। इसमें गुरू और चंद्रमा का जितना अधिक डिग्री सामिप्य होता है उतना यह योग प्रभावी होता है। toronto के devid watson की कुण्डली में भी ये शुभ योग और राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री माननीय अशोक गहलोत जी की कुण्डली में भी यह गजकेसरी योग घटित हुआ है। गुरू-चंद्रमा के साथ सप्तम अर्थात् केन्द्र में है जो कि चंद्र व लग्न दोनों से केन्द्र में है अतः अतिशुभ। इनके अलावा ऋतिक रोशन, अमिताभ बच्चन, शर्मिला टैगोर, नेस वाडिया, जमनालाल बजाज आदि कई कुबेरपतियों की कुण्डली में भी यह योग घटित हुआ है। धन योगों का विश्लेषण पूर्ण सावधानी से करना चाहिए। योगकारक ग्रह पर पाप प्रभाव, अस्त, नीच आदि का विशेष ध्यान अवश्य दें। our other videos:- || Yogas in Astrology || लक्ष्मी योग :-https://www.youtube.com/watch?v=bNxYbsItYTk सरस्वती योग:-https://www.youtube.com/watch?v=PaI6JUumPOw नाभि योग:-https://www.youtube.com/watch?v=T_YeHiqOimk लग्नाधि योग:-https://www.youtube.com/watch?v=aIt825oBoZk धेनु योग:-https://www.youtube.com/watch?v=ZRdW-C-ul04 चन्द्राधि योग:-https://www.youtube.com/watch?v=w-tS-TkGU7w कुलदीपक योग:-https://www.youtube.com/watch?v=jjxeAFIfslE गजकेसरी योग:-https://www.youtube.com/watch?v=06Zsx558o0w पदम योग:-https://www.youtube.com/watch?v=l0oJpXdVl2U महाभाग्य योग (पुरुष):-https://www.youtube.com/watch?v=gNoetBJG3ME महाभाग्य योग(स्त्री):-https://www.youtube.com/watch?v=7M7O93o7TQQ
1969 विष्णु पुराण कथा सार – भगवान् विष्णु की महिमा का अद्भुत दर्शन Bracelets आज का मुहूर्त हैदराबाद के वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि नीम स्तन कैंसर के इलाज में प्रभावी रूप से कारगर हो सकता है। वैज्ञानिकों ने पाया कि निमबोलिड स्तन कैंसर वृद्धि को रोकता है।
पारा अतः जन्मतिथि का मूलांक 2 हुआ। 14 जनवरी से 13 फरवरी तक दसवीं राशि मकर में रहता है।
Himachal Pradesh News ज्योतिष शास्त्र : रात में जन्मे लोग होते हैं ज्यादा जोखिम लेने वाले, जन्म के समय से जाना जा सकता है व्यक्ति का स्वभाव और भविष्य
शनिश्चर — शनि व्यक्ति को न्याय प्रिय बनाता है, शनि को भाग्य का ग्रह और कर्म का देवता भी माना जाता है। शनि ग्रह से प्रभावित व्यक्ति अपनी अलग विचारधारा बना कर रखता है। समाज से हट कर सोच रखता है। शनि आत्मसीमा, अनुशासन और योजना के माध्यम से शक्ति प्रदान करता है। शनि की स्थिति ही व्यक्ति की राह में आने वाली कठिन चुनौतियों और सीमाओं को दर्शाती है। निर्बल शनिश्चर व्यक्ति को आलसी, कामचोर, निर्धन और झगड़ालू भी बनाता है।
Purani dushmani ke karan financial loss, maan samman prabhavit ho rahi hai, manikya pahanne ke liye bataya hai, kripya marg darshan kare. Dhanyawad
return; ज्योतिषशास्त्र वज्योतिषी के ऊपर जो लोग विश्वास करते हैं, वे अपनी आपबीती एवं अनुभवों की बातें सुनते हैं। उन बातों मेंज्योतिषी द्वारा की गई भविष्यवाणी में सच हने वाली घटना का उल्लेख होता है। इन घटनाओं में थोड़ी बहुत वास्तविकता नजर आती है। वहीं कई घटनाओं में कल्पनाओं का रंग चडा रहता है क्योंकि कभी – कभार ज्योतिषी कीभविष्यवाणी सच होती है ? इस सच के साथ क्या कोई संपर्कज्योतिष शास्त्र का है?ज्योतिषियों कीभविष्यवाणी सच होने के पीछे क्या राज है ?ज्योतिषी इस शास्त्र के पक्ष में क्या – क्या तर्क देते हैं ? यह तर्क कितना सही है ?ज्योतिषशास्त्र की धोखाधड़ी के खिलाफ क्या तर्क दिये जाते हैं? इन सब बातों की चर्चा हम जरुर करेंगे लेकिन जिस शास्त्र को लेकर इतना तर्क – वितर्क हो रहा है ; उस बारे में जानना सबसे पहले जरुरी है। तो आइये , देखें क्या कहता हैंज्योतिषशास्त्र।
जल राशि 0 अंक शास्त्र भविष्य कथन विज्ञान का एक प्रकार है जिसमें अंको के विश्लेषण द्वारा भविष्य कथन किया जाता है। अंक शास्त्र के अनुसार, लोगों के व्यक्तित्व और भविष्य के बारे में उनसे संबधित संख्या का विश्लेषण कर बहुत कुछ बताया जा सकता है।  कई प्रकार के अंक और उनकी गणनाओं की तकनीक ने अंक शास्त्र को एक नए विशाल क्षेत्र तक पहुंचाया है। अंक शास्त्र में कई प्रकार के अंक होते है जैसे जीवन मार्ग अंक, जन्म अंक, व्यक्तित्व अंक, कार्मिक चक्र अंक आदि।
सिंह राशि वालों आज आप समझदारी से काम लें। थोड़ी सी लापरवाही बड़ा नुकसान पहुंचा सकती है। लेन-देन के……Read more
►  June (242) var long = DegreeMinuteSecondDirectionToDecimalDegree($(“#LongitudeDegree”).val().trim(), $(“#LongitudeMinute”).val().trim(), 0, $(“#LongitudeDirection”).val().trim())
☽ △ ♀ SAWAN My account Leave a Reply. anushashan आपका हँसमुख स्वभाव दूसरों को ख़ुश रखेगा. हर निवेश को सावधानीपूर्वक अंजाम दें और ग़ैर-ज़रूरी नुक़सान से बचने के लिए उचित सलाह लेने में न हिचकिचाएँ. आज आप अकेलापन महसूस करेंगे- और यह अकेलापन आपको समझदारी भरे फ़ैसेले लेने से रोकेगा. रोमांस- घूमना-फिरना और पार्टी रोमांचक तो होंगे, लेकिन साथ ही थकाऊ भी रहेंगे. कामकाज के दौरान तनाव आपकी मानसिक शान्ति भंग कर सकता है. सड़क पर बेक़ाबू गाड़ी न चलाएँ और बेजा ख़तरा मोल लेने से बचें. आप अपने जीवन साथी के साथ बहुत बढ़िया समय बिताएंगे. हर एल पल आपको एक दूसरे के और करीब लाएगा.
Zodiac Reading | Zodiac Pisces Zodiac Reading | Zodiac Signs And Dates Zodiac Reading | Zodiac Boat

Legal | Sitemap

Write a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.