आर्थिक मोर्चे पर मध्यम सप्ताह बीतता दिखाई दे रहा है. पूर्व में किए गए निवेशों से एक बढ़िया लाभ की उम्मीद करें. मुख्य रूप से लोन या रिकवरी के मामलों में बहुत ज्यादा सख्ती या रूखेपन से आना हानिकारक…
मुहूर्त मनोबल में वृद्धि… $(document).ready(function () {
Log in सौभाग्य अंक एस पी बिलासपुर आज लेंगे क्राइम मीटिंग Bod 20/08/1988 व्यक्तित्व का दर्पण लघु पाराशरी सिद्धांत – शेष सूत्र
मानव शरीर में कैंसर की उत्पत्ति में कोशिकाओं की भूमिका महत्वपूर्ण होती है। कोशिकाओं में श्वेत एवं लाल रक्त कण होते हैं। ज्योतिष में श्वेत रक्त कण का सूचक कर्क राशि का स्वामी चंद्र तथा लाल रक्त कण का सूचक मंगल है। कर्क राशि का अंग्रेजी नाम कैंसर है तथा इसका चिह्न केकड़ा है। केकड़े की प्रकृति होती है कि वह जिस स्थान को अपने पंजों से जकड़ लेता है, उसे अपने साथ लेकर ही छोड़ता है। इसी प्रकार कोशिकाएं मानव शरीर के जिस अंग को अपना स्थान बना लेती है उसे शरीर से अलग करके ही कोशिकाओं को हटाया जाता है। इसलिए ज्योतिष में कैंसर जैसे भयानक रोग के लिए कर्क राशि के स्वामी चंद्र का विशेष महत्व है। इसी प्रकार रक्त में लाल कण की कमी होने पर प्रतिरोधक क्षमता में कमी आ जाती है। ज्योतिष पूर्वजन्म के किये हुए कर्मों का आधार है अर्थात हम ज्योतिष द्वारा ज्ञात कर सकते हैं कि हमारे पूर्वजन्म के किये हुए कर्मों का परिणाम हमें इस जन्म में किस प्रकार प्राप्त होगा। ज्योतिर्विज्ञान के अनुसार कोई भी रोग पूर्व जन्मकृत कर्मों का ही फल होता है। ग्रह उन फलों के संकेतक हैं, ज्योतिष विज्ञान कैंसर सहित सभी रोगों की पहचान में सहायक होता है। पहचान के साथ-साथ यह भी मालूम किया जा सकता है कि कैंसर रोग किस अवस्था में होगा तथा उसके कारण मृत्यु आयेगी या नहीं, यह सभी ज्योतिष विधि द्वारा जाना जा सकता है।
निश्चित लक्षण = मनोचिकित्सा Views : 295Planets Can Reveal the Intelligence of PeopleArjun Kumar GargAll human beings are imbued with a spark of intelligence. Of all life in the universe, only human beings are blessed with the gift of intelligence. Intelligibility is a wide spectrum of wit, wisdom; materialistic world knowledge, divine and spiritual knowledge.Read More
करियर स्पेशल ▼  2015 (3939) 100% प्रमाणित सेवाएं अगस्त 01, 2018 About Us Privacy Policy Disclaimer Term & conditions Cancellation & Refund Careers Feedback Contact Us ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, कुंडली में स्थित जिन ग्रहों के कारण कैंसर होने की संभावना बन रही है, उन ग्रहों से संबंधित ज्योतिषिय उपाय करें व उन ग्रहों के जप पूर्ण विधि-विधान से करें। उपरोक्त उपाय करने से कैंसर होने की संभावनाएं कम हो जाती हैं अथवा कैंसर होने पर भी इसका समुचित उपचार हो जाता है।
Dear tinka, defense sector me try karo. Sir mai rahul sharma…..DOB 17may 1995…birth time 7:15pm evening…… government job ke Chance hai ????aur kis field me….aur agr business kholna chahu to kis field me best rahega sir
डिअर मोहित, business कर सकते हो| टtrading suit करेगा| June 14, 2018 at 4:48 am 31 जुलाई तक इन 6 राशियों के ऊपर रहेगी मंगल की शुभ छाया, मिलेगा जबरदस्त लाभ 😮
पुरुष मॉडल Aquarius Horoscope 2018 कुंभ राशि कुंडली 2018 – ज्योतिष वार्षिक भविष्यवाणियां
Advertise जन्म डेटा फ़ॉर्म भरने के निर्देश इंश्योरेंस उर्दू साहित्य Panchang रामायण की चौपाई से करें मनोकामना की पूर्ति Hello ! How can we Help you?
ऑनलाइन जनम कुंडली सॉफ्टवेयर आज आपके तन और मन का स्वास्थ्य मध्यम रहेगा। खर्च की चिंता से मन अशांत रह सकता है। वाणी पर संयम रखना अतिआवश्यक है। घर के अतिरिक्त बाहर का खाना-पीना संभवतः टालें। ऑफिस के स्त्री सहकर्मियों से आपको…
Services Timezone and Kundali Style उबेश्वर मंदिर में निर्माण पर प्रॉपर्टी डीलर-आदिवासियों में धक्कामुक्की
फ्यूचर समाचार Aaj Ka Rashifal – सूर्यदेव आएंगे किस्मत के द्वार,… फलाहारी थालीपीठ – व्रत विशेष जम्मू-कश्मीर 1935 सोशल मीडिया
परिचय लाल किताब के टोटकों में सबसे प्रमुख बात है उपायों की सरलता और मितव्ययिता। कोई ग्रह किसी एक भवन में…और पढ़ें
Kundli Tv- बिल्व पत्र ही नहीं ये चीज़ें भी हैं भोले बाबा के दिल के करीब पृष्ठ:  40-45 Cancer Horoscope 2018 – ज्योतिष कैंसर राशि 2018 वार्षिक भविष्यवाणियां तुला राशि | Libra Sign
April 7, 2018 at 11:36 am Blogger द्वारा संचालित
JB E-Paper कस्टमर टेस्टिमोनियल्स Diamond Stone रत्न साम्राट हीरा क्या हर लग्न को suit करेगा? रिलेशनशिप फोटो नवभारत टाइम्स – August 6, 2018 10:30 am
jyotish samadhan सशुल्क raat ko 11: 12 minute हाल में हुए परिवर्तन भिंदा जट्ट बना Hero; मूछों को ताव देते कहा- ‘जट्ट कल्ला ही गां नूं कड…
डिअर अनिल, इसमें केवल दो तरीके हैं। एक होररी और दूसरे शासक ग्रह। किसी भी घटना से संबंधित फलादेश के लिए जातक से १ से लेकर २४९ के बीच का कोई नंबर लेते हैं और फिर उसकी कुंडली बनाते हैं। जन्म कुंडली या प्रश्न कुंडली के कारक ग्रहों के अनुसार मुहूर्त भी निकल जाता है।
Ravinder singh saluja भागवतम के अनुसार भोग-विलास का फल इन्द्रियों को तृप्त करना नहीं है, उसका प्रयोजन है केवल जीवन निर्…और पढ़ें
InnerSelf.com | ताकतवर प्राकृतिक। Com | जलवायु प्रभाव समाचार। Com Leotouch Professional with Printing var n = readCookieForTopNeg(‘mpncaltrneg’);
मुस्लिम धर्म कथाएं May 31, 2018 at 5:29 am व्यूस : 214189 Sun Sign Calculator var OSName = “Unknown”; 3 Jul 2018
जिस जातक की कुंडली में पितृदोष होता है उसे धन अभाव से लेकर मानसिक क्लेश तक का सामना करना पड़ता है। June 21, 2018 at 6:15 am How to read horoscope in hindi horoscope tips in hindi how to see kundli janm kundli kaise dekhe
यद्यपि मेरा यह आलेख सबके लिए उपयोगी है लेकिन फिर भी यह उन लोगों के अधिक उपयोगी सिद्ध होगा जिन्हें अपने जन्म का सही समय नहीं पता हो। क्योकि वैदिक ज्योतिष में बिना सही समय के सटीक मिलान में व्यवधान आता है। इसके अलावा ये विधा उन लोंगों के लिए आशा की किरण साबित हो सकती है जिनका मिलाप वैदिक ज्योतिष के अनुसार उचित नहीं आ रहा है। यहां एक बात स्पष्ट कर दूं कि मैं वैदिक ज्योतिष को अंक ज्योतिष की तुलना में कमजोर नहीं कह रहा हूं। यहां मैं केवल इतना कह रहा हूं कि यदि वैदिक ज्योतिष के अनुसार मिलान ठीक न हो लेकिन अंकज्योतिष की तीनों कसौटियों के अनुसार विवाह उचित हो तो सुखद दाम्पत्य की कल्पना की जा सकती है। इसके अलावा यह आलेख उन लोगों के लाभप्रद सिद्ध हो सकता है जिन्हें उनकी जन्मतिथि उत्यादि की जानकारी बिल्कुल न हो। ऐसे में यदि कोई अपने नामाक्षर के नक्षत्र के अनुसार गुण मिलान करने के अलावा, अंकज्योतिष के अनुसार नामांक मिलान करा कर विवाह करता है तो भी सुखद दाम्पत्य की कल्पना की जा सकती है।
हमने स्वस्थ और निरोगी न रहने की बात अपने मन में ठान रखी है। हमने अपनी आदतें इतनी बिगाड़ रखी हैं कि उन आदतों के रहते हम स्वस्थ और निरोगी काया की कल्पना भी नहीं कर सकते हैं। लेकिन शायद आपको यह नहीं मालूम होगा की हमारे स्वस्थ और निरोगी जीवन का संबंध हमारे ग्रहों से भी है। क्योंकि कई बार हम फिट और निरोगी रहने के लिए तरह-तरह के प्रत्यन करते हैं। लेकिन तमाम तरह की सजगता बरतने के बावजूद हम किसी रोग की गिरफ्त में आ ही जाते हैं।
Email * धनु राशि | Sagittarius Sign रामायण (रघुपति राघव राजा राम) अन्य भाषाओं में यंत्र var $this = $(“#” + button);
// document.getElementById(“imagecalender”).src = imgSrc; महाभारत की कथाएँ UT: 2018-08-06 08:06:44 गुरु पूर्णिमा कल, चंद्रग्रहण का साया!
01 Third House of Horoscope दशम भाव में नीच का, ग्रहण से पीड़ित, ग्रह युद्ध में हारा हुआ, शत्रु ग्रह या गिरा हुआ ग्रह नहीं होना चाहिए – ऐसी स्थिति में सफलता, कामयाबी, नाम या प्रतिष्ठा प्राप्त करने में बहुत दिक्कतें आती हैं और बहुधा नहीं मिल पाती हैं|
सत्र के अंत में केसर के प्रो. एसके शास्त्री ने हस्तरेखा अध्ययन से पहले हथेली के गुण-धर्म एवं अंगुलियां जो कि हथेली में उपस्थित गुणों को प्रकाशित करती हैं, के अध्ययन पर बल दिया। इसके बाद उन्होंने रेखाओं एवं ग्रहों के अवस्थान, गुण-धर्म पर विस्तृत व्याख्यान देकर सत्र का समापन किया। सम्मेलन के दूसरे दिन के अंत में निश्शुल्क ज्योतिष परामर्श का आयोजन किया गया। इसमें भारी संख्या में स्थानीय लोगों ने आकर देश विदेश से आए ज्योतिषियों से परामर्श का लाभ उठाया। आयोजन में जेवी मुरली कृष्णा, राकेश तिवारी, डॉ. सुरेश झा, सुशील शर्मा, उज्ज्वल राय, सीमा श्रीवास्तव, धनंजय मंडल, अरुणा शर्मा, सीएस पंडित एवं निर्मल वेज आदि ने अहम भूमिका निभाई।
नक्षत्र : कृतिका 05/05/am भारतीय दर्शन  में निरोगी रहना प्रथम सुख माना गया है. यथा- ” पहला सुख निरोगी काया” यह बिल्कुल सत्य है कि निरोगे शरीर ही प्रथम सुख है और बाकी सभी सुख निरोगी शरीर पर ही निर्भर करते हैं आजकल के दौड धूप के युग में पूर्णतः निरोगी रहना अधिकांश व्यक्तियों के लिये  एक स्वपन के समान ही है. निरोगी शरीर का अर्थ है शरीर  रोग का से रहित होना . रोग दो प्रकार के होते है एक- साध्य रोग जो कि उचित उपचार, आहार,व्यबहार ठीक हो जाते हैं  दूसरे – असाध्य रोग जो कि उपचार के बाद भी व्यक्तिओं का पीछा नही छोडते है. इन्ही असाध्य रोगों मे अधिकाश रोग जिन्दगी भर साथ रहते है तथा उचित उपचार के साथ जिन्दगी के लिये घातक नही होते हैं परन्तु दो असाध्य रोग ऐसे है जिनका कोई उपचार नही है तथा वे दोनो रोगी की जान लेकर ही रहते हैं  वे दो रोग हैं १. कैंसर २. एड्स.
कस्टमर टेस्टिमोनियल्स शुभ दिन महाशिवरात्रि व्यूस : 5798 धर्म प्रवर्तक और संत राहु का यह अंक सभी अंकों में सबसे अधिक रहस्यमय है। 13 नम्बर को अनलक्की कहे जाने का सबसे बडा कारण 13 का जोड 4 ही है। 4 अंक सर्वाधिक पीडा पहुंचाने वाला अंक है। इस अंक में पैदा होने वाला जातक अनेक क्षमताओं से युक्त होकर रहस्यमयी होता है। उसकी गहराईयों को नापना असान नही है। इस अंक का विश्व की अनेक घटनाओं से नाता रहा है। यह अंक आतंकवादी हमले की ओर अधिक इशारा करता हैं। 13 जुलाई 2011 मुम्बई ब्लास्ट, 13 फरवरी 2010 पुणे ब्लास्ट, 13 मई 2008 जयपुर ब्लास्ट, इसके अलावा 22 मार्च 893 में आया भूकम्प जैसी अनेकों दर्दनाक घटनाओं की तरफ ये अंक इशारा करता है।
Now Available On 34 Libra (तुला) अपने रिलेशनशिप को लेकर रणबीर कपूर ने दिया बड़ा बयान  
पारिवारिक सहयोग… – पाचन तंत्र, पेट और उम्र की सीमा से है बृहस्पति का संबंध. ►  June (23) सामाजिक जम्मू कश्मीर Astrologers 1 दाहिनी आंख की निचली पलक का कान के पास वाला भाग अथवा बाईं आंख की ऊपरी पलक के कान के पास वाले भाग में स्फुरण स्वास्थ्य के प्रति हानिकारक होता है।
राशि चक्र और जन्मदिन | कन्या राशि चक्र राशि चक्र और जन्मदिन | कुंभ राशि राशि राशि चक्र और जन्मदिन | राशि चक्र संकेत प्रतीक

Legal | Sitemap

Write a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.