लेखक – शालिनी द्विवेदी 8/ 10 Related Post if (buttonWidth >= buttonHeight) { स्वागत है, लौकिक योद्धाओं। मैं आपके निवासी ज्योतिषी, अलीज़ा केली फराघर हूं, और यह अलीज़ा के ज्योतिष है, ज्योतिष, गूढ़ता, और सभी चीजें जादूगर को समर्पित एक स्तंभ है। आज, हम ग्रहों के अर्थों और जन्म चार्ट की मूल बातें से परिचित हो रहे हैं।
इस राशि का स्वामी चन्द्रमा है। यह राशि मन व हृदय की कारक है यदि कुण्डली में चन्द्रमा नीच का या पीड़ित हो तो जातक को मानसिक तनाव अवसाद, त्वचा व पाचन संस्थान पर विपरीत प्रभाव जैसे रोगों का सामना करना पड़ सकता है।
ये सपने यदि आपको दिखते है बार बार, तो जाने क्या है इनका मतलब 😮 ►  July (11)
सूर्य यंत्र Gemstones Kundli Tv- साप्ताहिक राशिफल- इस सप्ताह की गई ज़रा सी लापरावाही,… लंकाधिपति की मृत्यु से उठा पर्दा, यहाँ आज भी रखा हुआ है रावण का शव 😮 June 20, 2018 at 6:09 pm
नए विषय शिक्षा/नौकरी Keep this tips in mind for office 1955
July 3, 2017 at 12:47 pm ज्योतिषी पेनेल बच्चों ने रावण को बंदी बनाकर घोड़ों के अस्तबल में बांध दिया था
कृष्णमूर्ति गुरुजी ने अपने अध्ययन में पाया कि जब एक ही नक्षत्र अथवा एक से दूसरे त्रिकोण में आने वाली राशियों में स्थित नक्षत्र में एक से अधिक ग्रह हों तो सबका नक्षत्र स्वामी एक ही होते हुए भी उनके फल अलग-अलग मिलते हैं। यह एक चौंकाने वाली थी, लिहाजा उन्होंने इसके परिणाम देखने के लिए नक्षत्र का विभाजन अन्तर्दशा के अनुसार किया, जैसा कि चंद्रमा की दशाओं में होता है। नक्षत्र को विंशोत्तरी दशा के अनुसार नौ भागों में विभाजित किया। इस विभाजित नक्षत्र के भाग को उप नक्षत्र (सब लार्ड ) कहा जाता है। इसको इस तरह समझने की कोशिश करते हैं।
You Tube Personal Case Experiences परिजनों ने शराब के लिए ‌200 रुपए नहीं दिए तो मोबाइल टॉवर पर जा चढ़ा युवक, दो घंटे चला ड्रामा
प्रेम जीवन Number 9 in Numerology मिथुन ऐसे में आप इन बातों का ध्यान रखें….
Auto World ઑટો વર્લ્ડ ऑटो वर्ल्ड Dear Shivam, कुंडली / जन्म कुण्डली नंदिता दास ने नवाजुद्दीन सिद्दिकी के लिए कही यह बात सिने-मेल 0
Alok Khatore says चंडीगढ़ MM केतु यंत्र जीवन के भावी संकेत मिलते है हमारे हाथो में ज्योतिष शास्त्र के अनुसार
ज्योतिष में कोई भी असंगत राशि नहीं होती जिसका अर्थ है कि कोई भी दो राशि अधिक या कम संगत होती हैं। जिन दो लोगों की राशियों में अत्यधिक संगतता होती है, वे सरलता से निर्वाह करेंगे क्योंकि उनकी प्रवृति एक समान है। परंतु, ऐसे लोग जिनकी राशियों में संगतता कम होती हैं, उन्हें एक खुश और सौहार्दपूर्ण संबंध हासिल करने के क्रम में अधिक धैर्यवान एवं विनम्र बने रहने की आवश्यकता होगी।
– जसमीन, पंजाब तुम लोग मशीन के जैसे डिफॉल्ट चल रहे हो। जो ऊपर से प्रोग्रामिंग किया जा रहा है, वही चल रहा है। उसी को जी रहे हो। क्योंकि तुम्हारी धारणाएं गलत हैं। तुम गलत धारणाओं को जी रहे हो। ज्योतिष इसे सही तरीके से बदलना सिखाता है। ज्योतिष एक अनुशासन मानता है। अगर मानसिक अनुशासन नहीं हो तो यह विधा आ सकती। – डॉ ख़ुशदीप बंसल 
मस्तिष्क रेखा का आरंभ तर्जनी उंगली के नीचे से होता हुआ हथेली की दूसरी तरफ जाता है जब तक उसका अंत न हो। यह रेखा, जीवन रेखा के आरंभिक बिन्दु को स्पर्श करती है।
वीडियो खिलाड़ियों और संपादकों हां, ज्योतिष की सहायता से हम विभिन्न प्रकार के ग्रहों नक्षत्रों और राशियों के समायोजन से बनने वाले लोगों और दोषों का आकलन कर जीवन में आ चुकी, चल रही तथा भविष्य में आने वाली सभी अच्छी-बुरी घटनाओं और समस्याओं का आकलन कर सकते हैं और किसी विशेषज्ञ ज्योतिषी की गणना द्वारा उन समस्याओं के कारणों का उचित मूल्यांकन करवा कर समाधान प्राप्त कर सकते हैं।
Name Antima. Medical Problems कहानियाँ Lal Kitab Horoscope 2017 463 likes मनुष्य की जन्मकुंडली में स्थित ग्रहों के विभिन्न प्रकार के संयोग और बलाबल के अध् ययन से व्यक्ति विशे…और पढ़ें
Eighth House of Horoscope Q to Z जन्म स्थान पंजाब में कहाँ? तारीख को जन्मे व्यक्ति का मूलांक -6 वैज्ञानिकों का दावा, स्तन कैंसर के इलाज में मददगार है नीम Updated Jul 02, 2018 | 00:30 IST | भाषा
Blog Hindi July 13, 2018 at 7:29 am 2-भारतीय मानक 82.30 (-) आगरा 78.00 गुणा 4 00.18.00
हमें दिनांक 1 नवम्बर सन 2013 को प्रातः 10 बजकर 20 मिनट पर मथुरा में लग्न निकालनी है तो- 3.यह रेखा बताती है शारीरिक क्षमता
धन, मान, पद मिलेगा अगर हथेली में इस स्थान पर नक्षत्र हो तो कॉकरोच को घर से भगाने के साधारण उपायApril 12, 2018 – 3:06 pm Sagittarius (धनु)
July 7, 2018 प्राथमिक नक्षत्रीय ज्योतिष शिक्षा (भाग-एक) शतभिषा नक्षत्र पूजा 1,2,4,6 अल्पायु योग इस राशि के स्वामी बुध है तथा यह पेट व कमर के कारक हैं। बुध नीच का या अन्यथा बुध पीड़ित होने पर पेट, पाचन क्रियाएं, यकृत संबंधित रोग एवं गुप्त रोगों का खतरा हो सकता है।
Shasha Yoga || $(“#LongitudeDegree”).val() != longitude[0] || $(“#LongitudeMinute”).val() != longitude[1] || $(“#LongitudeSecond”).val() != longitude[2] || $(“#LongitudeDirection”).val() != longitude[3]);
Rashi डिअर हिमांशु, ►  2017 (574) गतिविधि लॉग वीडियो Delhi Time-1.45am Twelfth House of Horoscope मूल्य ` 51000 Hello sir,
रामनवमीः मनोकामना के अनुसार पढ़ें रामचरित मानस के दोहे, मिलेगा लाभ 2017-05-22 1.यह रेखा बताती है बौद्धिक स्तर
वृश्चिक राशि के स्वामी मंगल हैं। यह राशि गुप्तांगों की कारक है, पीड़ित होने पर या नीच में स्थित होने पर गुदा, लिंग, जननांग, यकृत, मस्तिष्क संबंधी व आंत संबंधी रोग परेशान कर सकते हैं।
♅ ☍ ⨧ 2°55′ 4:45pm आप जल्द ही लम्बे समय से चली आ रही बीमारी से उबरकर पूरी तरह सेहतमंद हो सकते हैं। अपने निवेश और भविष्य की योजनाओं को गुप्त रखें। आपके घर वाले आपकी कोशिशों और समर्पण को सराहेंगे। ख़ुशी के लिए नए संबंध की प्रतीक्षा करें। कोई आध्यात्मिक गुरू या बड़ा आपकी सहायता कर सकता है। शादीशुदा ज़िन्दगी के नज़रिए से चीज़ें काफ़ी अच्छी रहेंगी। काम टालने से कभी किसी का भला नहीं होता। पूरे हफ़्ते बहुत-सा काम इकट्ठा हो गया है, इसलिए अब बिना देरी शुरू हो जाएँ।
निकालें शुभ होरा
$(“#navbar”).addClass(“navbar_collapse_mobile”); English मेष राशि के जातकों में जन्म से नेतृत्व के गुण होते हैं |राशिचक्र की आरंभिक राशि होने के कारण ये उत्तरोतर ही जाना चाहते हैं | हारना ये बर्दाश्त नहीं कर सकते अत: ये अधिकतर सफ़लता ही हासिल करते हैं |इनका यह गुण जीवन के हर क्षेत्र में नजर आता हैं | यदि आपकी टीम में मेष राशि के जातक हो तो यह आपके लिए फ़ायदेमंद हैं | जब इनके जीवन वृत्ति की बात आती हैं ये बेहतरीन कैरियर पाने के लिए अपना सारा कौशल लगा देते हैं |
Arun Bansal मीन कुंडली 2018 मूलांक 8 :- इस अंक का स्वामी शनि हैं। 8, 17 एवं 26 तारीख श्रेष्ठ तिथि हैं। शनि का अंक होने से इस अंक से क्षीणता, शारीरिक मानसिक एवं आर्थिक कमजोरी, क्षति, हानि, पूर्ननिर्माण, मृत्यु, दुःख, लुप्त हो जाना या बहिर्गमन हो जाता है, रविवार, सोमवार एवं शनिवार शुभ हैं। जिसमें शनिवार सर्वाधिक शुभ है। भूरा, गहरा नीला, बैगनी, सफेद एवं काला शुभ रंग है। हृदय एवं वायु रोग इनके प्रभाव क्षेत्र हैं। दक्षिण, दक्षिण-पश्चिम एवं दक्षिण-पूर्व दिशा शुभ हैं।
Amit Kumar says रिश्ते में भावुक…. ▲ एंटरटेनमेंट हमें दिनांक 1 नवम्बर सन 2013 को प्रातः 10 बजकर 20 मिनट पर मथुरा में लग्न निकालनी है तो-
सरिता गुप्ता Score Board //$(“#Hour”).removeAttr(“disabled”);
} else { सियासी घमासान के बीच चंद्रबाबू नायडू का बड़ा फैसला, कितना फायदेमंद भविष्य में?…जानें
धन संबंधी कार्यों के लिए भाग्यांक निकालने के लिए जन्म दिन और जन्म समय को जानना आवश्यक है। इस विधि में जन्म समय में केवल जन्म के घंटे के ज्ञान की आवश्यकता होती है, मिनट आदि का कोई महत्व नहीं होता।
जैसे भाग्यांक = 11.2.1942 Dob 13-12-1993 श्रावण मास का दूसरा सोमवार, करें राशि अनुसार यह पूजन sati
Zodiac Symbols Months 12 Zodiac Signs Zodiac Horse

Legal | Sitemap

Write a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.