ज्योतिष में पितृदोष का बहुत महत्व माना जाता है। |तस्वीर साभार: TOI Archives July 16, 2018 at 3:04 pm
Astromitram : Kundli Se Jane Makan Malik Banne Ke Upay / कुंडली का चौथा घर देगा मकान मलिक बनने का सुख आध्यात्मिकता और मानसिकता
सांकेतिक फोटो |तस्वीर साभार: Thinkstock लियो गोल्ड (गृह संस्करण) Mental health and astrological aspects Gaurav Kumar says
वृषभ लग्न में जन्म लेने वाले जातकों की जन्मकुंडली के विभिन्न भावों में मंगल का प्रभाव (फल) निम्नानुसार जान लेना चाहिए लग्न (प्रथम भाव ) में…
mere kam ho nahi pa rahai ahe sir meri arthik thithi kamjur ahe kay kare udpay
मतदाता सूचियों में दर्ज करा सकते हैं आपत्तियां व दावे कुंडली के किसी भी भाव में चंद्र के साथ राहु या केतु बैठे हों तो ग्रहण योग बनता है। यदि इन ग्रह स्थिति में सूर्य भी जुड़ जाए तो व्यक्ति की मानसिक स्थिति अत्यंत खराब रहती है। उसका मस्तिष्क स्थिर नहीं रहता। कार्य में बार-बार बदलाव होता है। बार-बार नौकरी और शहर बदलना पड़ता है। कई बार देखा गया है कि ऐसे व्यक्ति को पागलपन के दौरे तक पड़ सकते हैं। ग्रहण योग का प्रभाव कम करने के लिए सूर्य और चंद्र की आराधना लाभ देती है। आदित्यहृदय स्तोत्र का नियमित पाठ करें। सूर्य को जल चढ़ाएं। शुक्ल पक्ष के चंद्रमा के नियमित दर्शन करें।
इसके अलावा, ग्रह ग्रहों की स्थिति के आधार पर दिन, महीना और वर्ष के रूप में विभिन्न राशियों में स्थानांतरित होते रहते हैं। ये ग्रह विभिन्न घटनाओं और संभावनाओं को दर्शाते हैं। जन्म कुंडली को देखते हुए, एक ज्योतिषी ग्रहों के दृश्य के आधार पर भविष्य की भविष्यवाणी कर सकता है। भविष्य के बारे में भविष्यवाणी करने के लिए ज्योतिषियों द्वारा विभिन्न सिद्धांतों का परीक्षण और वैदिक ज्योतिष का अभ्यास किया जाता है।
►  May (60) maine bola DEFENSE sector me try kar sakte ho. Govt job ke Strong combinations nahi hain. आगे बढ़ें Starry Talks
धर्म-संसार +91-88 27 001008 मल्लिका ने लिया श्वेता, सपना, लिजा और अमायरा का नाम Published
श्री शिव यंत्र क्यों विनिर्माण नौकरियां अमेरिका में लौटने की संभावना नहीं है म्‍युचुअल फंड अयानम्सा: एशिया
एेसे करोगे टिकट कैंसिल तो नहीं मिलेगा रिफंड आपका बुरा समय चल रहा हो तो आपको किसी विद्वान ज्योतिषी की सहायता लेनी पड़ेगी ! कुछ लोगों की जन्म कुंडली या जन्म विवरण सही नहीं होता। ऐसी दशा में कैसे पता लगाया जाए कि आप पर किस ग्रह का प्रभाव चल रहा है ! कुछ लक्षण ऐसे होते हैं जिनका सीधा सम्बन्ध किसी ख़ास योग या ग्रह से होता है। आइये जानते हैं उन लक्षणों के बारे में….
जाने संतान रेखा का रहस्य Nothing Found dear sanjana, itne prashnon ke uttar free me sambhav nahi hai. सपा હમેશાં હરતાં-ફરતાં અને તંદુરસ્ત રહેવા બધાં અપનાવો, માત્ર આ 1 ખાસ ફોર્મ્યૂલા…!!!
October 9, 2017 at 12:00 pm 2 July 18 ke second week ke baad chances hain. Priya Sharan Tripathi शासन राजा: चंद्रमा आईटी खबर
कथा-कहानी 11 अप्रैल 2016 Mai Philhal pichle 4.5 salo se IT sector me job kar raha hu. – राहु की त्रिक भाव या त्रिकेश पर दृष्टि हो भी कैंसर रोग की संभावना बढ़ाती है।
सावन के पवित्र माह में भोलेनाथ को प्रसन्न करने के लिए मुख्यत: 3 प्रकार के व्रत रखे जाते … कामुकता
type: ‘GET’, श्रावण सोमवार व्रत से पाये जीवन में हर सुख !! राधा कृष्ण का हुआ था विवाह यह भूकम्प रिक्टर स्केल पर 7.7 से अधिक का होगा और इसके कई झटके बार-बार महसूस किए जाएंगे। भूकंप के आने की सबसे प्रबल संभावना 9 मार्च के सूर्यग्रहण के आसपास होगी।
ग्रहों को जाने debugger; $(“#oranumAdHolder”).modal(‘show’);
जिस किसी की कुंडली में मंगल भारी होता है तो इसको दूर करने के लिए शिवलिंग पर गिलोय का रस चढ़ना चाहिए। Third House of Horoscope
इसमें न केवल आप अपनी जन्म कुण्डली प्राप्त करेंगे बल्कि आप फलादेश और अन्य भविष्यवाणियां भी प्राप्त कर पाएंगे। इसमें आपको अपना वर्षफल भी मिलेगा जो वैदिक ज्योतिष की प्राचीन ताजिक पद्धति पर आधारित होता है। यह सॉफ्टवेयर आपको सामान्य फलादेश भी देगा जो वैदिक ज्योतिष के सिद्धांतों पर आधारित होगा। तो इंतजार किस बात का यहां क्लिक करें और अपनी जन्मकुंडली प्राप्त करें।
संगत Kindly Tell me about my career and marriage life . My Details are : वृश्चिक राशिफल 2018 मेष राशि वालों आज आप अपनी पॉजेटिव सोच के बल पर आगे बढ़ेंगे, भाग्य आपके साथ है। प्रोपर्टी खरीदने के……Read more
कथा-कहानी लग्न से व्यवसाय के दैहिक सुख के बारे में देखते हैं की work place का atmosphere कैसा होगा, नौकरी व्यवसाय में satisfaction, ख़ुशी, बारम्बार स्थानांतरण या बार बार tour आदि के योग होंगे की नहीं|
बॉलीवुड उन्होंने महसूस किया भारतीय ज्योतिष की भारत में एक लम्बे समय तक परतंत्रता के काल में ज्योतिष की कड़ियाँ बिखर गयी या लुप्त हो गई। सूक्ष्म अध्ययन एवं शोध के पश्चात् श्री कृष्णामूर्ति महर्षि पाराशर जी की विंशोत्तरी दशा (जिसे उर्दू दशा अर्थात नक्षत्र दशा) से बहुत प्रभावित हुए। महर्षि पाराशर के अनुसार कुंडली में चंद्र जिस राशि में स्थित होता है, उस राशि का या उसके स्वामी का प्रभाव बहुत कम होता है, किन्तु चंद्र जिस नक्षत्र में होता है, उसके स्वामी की महादशा होती है एवं जो नक्षत्र नवांश होता है, उसकी अंतर की दशा होती है, जिसका प्रभाव मुख्यरूप से उस जातक पर होता है। विंशोत्तरी दशा के नियमों पर आधारित नियमों के आधार पर ही नक्षत्रों का विभाजन उप नक्षत्रों तथा उप उप नक्षत्रों में करके फलादेश की विद्या ने एक नई पद्धति को जन्म दिया। यही नहीं, कृष्णामूर्ति जी ने चन्द्रमा के ही नहीं, वरन शेष सभी ग्रहों की स्थिति नक्षत्र, उप नक्षत्र, उप उप नक्षत्रों में बांट दी। इतना ही नहीं, बारह भावों में आरम्भ की कला विकलाओं को भी नक्षत्र, उप नक्षत्र एवं उप उप नक्षत्रों में विभाजन कर दिया और यह सिद्ध कर दिया कि उप नक्षत्र ही उस भाव के फलों का सही विश्लेषण करता है। इसी नक्षत्रीय विद्या को कृष्णामूर्ति पद्धति कहते हैं। 27 नक्षत्रों के 249 उप नक्षत्र बनते हैं। इन्हीं 249 उप नक्षत्रों के किसी नंबर के आधार पर प्रश्न कुंडली से सटीक फलादेश की विद्या भी इस पद्धति की प्रमुख कड़ी है। श्री कृष्णामूर्ति जी ने शासक ग्रहों की विधा (जिससे चंद मिनटों से वर्षों में होने वाली घटनाओं का समय आसानी से ज्ञात किया जा सकता है.) भी इसी पद्धति में शामिल है।
ज्योतिष में बृहस्पति का महत्व -जसप्रीत कौर, दुबई
अंक 5 अंक ज्योतिष में बुध ग्रह का प्रतीक माना जाता है। अंक 5 के लोग स्वभाव से मिलनसार, शीघ्र निर्णय लेने वाले, रचनात्मक, लचीले और अनुकूल होते हैंI रिलायंस गैस चोरी प्रकरण: सरे बाजार खुल गये नेक नियती के दावे की पोल विश्लेषण – 23 hours ago
अंकज्योतिष भगवान महाकाल को प्रसन्न करने के लिए करें यह उपाय, पढ़ें आज का पंचांग और राशिफल
Jump to July 6, 2018 at 7:21 am Sports News Power Buzz Know Your Signs – Libra Kanpur India पृष्ठ:  100-110 $(“#Year”).val(new Date().getFullYear());
चाइल्ड केयर (4) June 14, 2018 at 7:00 am मौसम (10) किसी गरीब को अथवा मंदिर में कंबल का दान करें। कंबल यदि नीला हो तो और भी उत्तम हैं।
राशि चक्र else {
mera Dob: hai 19/08/1985 व्यूस : 2472 ज्ञान गंगा की धारा ज्योतिष में फलादेश कैसे करें? यह विचार आते ही हमारे मस्तिष्क में काफी सारे विचार एक साथ कौंध जाते है…और पढ़ें इलाहाबाद
ND आइए हम इसका विवेचन करें “क्या नौकरी मिलेगी” कमोडिटी लो-शू वर्ग //alert(‘Input can not be left blank’);
Zodiac Wheel | Zodiac Quiz Buzzfeed Zodiac Wheel | Zodiac Outfits Zodiac Wheel | Zodiac Descriptions

Legal | Sitemap

Write a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.